मोबाइल फोन पर 96 घंटे तक जिंदा रह सकता है कोरोना वायरस

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए जहां लगातार अपने हाथों को साफ रखने और सेनेटाइजर के प्रयोग की बात कही जा रही है। वहीं सबसे बड़ी चिंता मोबाइल फोन को लेकर है क्योंकि यह वह डिवाइस है जो लगातार लोगोंके हाथों में रहती है।

वहीं इसके जरिए वायरस फैलने के खतरे को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। सार्स वायरस के डाटा कलेक्शन में यह बात स्पष्ट की गई है कि ग्लास साइड पर कोरोना वायरस के 96 घंटे तक जिंदा रह सकते हैं।

इस लिए यह बेहद जरुरी है कि आप अपने पहन को सही तरीके से साफ करें। इसके लिए आप माइक्रोफाइबर कपड़े का प्रयोग करें और साबुन और पानी के घोल से अपने फोन को साफ करें।