पढाई का माहौल ख़राब कर रही हैं वाम पार्टियां, शिक्षाविदों का पीएम को सामूहिक-पत्र

देश में 208 शिक्षाविदों ने विश्वविद्यालयों में वाम दलों द्वारा माहौल ख़राब करने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। जिस प्रकार जेएनयू, जामिया तक, एएमयू और जादवपुर विश्वविद्यालय इत्यादि शिक्षण-संस्थानों के कैम्पस में हालिया घटनाएं हुई हैं, वह वामपंथी कार्यकर्ताओं के एक छोटे से समूह की शरारत प्रतीत होती है। इस बयान पर हस्ताक्षर करने वाले लोगों में हरि सिंह गौर यूनिवर्सिटी के कुलपति आरपी तिवारी, दक्षिण बिहार सेंट्रल यूनिवर्सिटी के वीसी एचसीएस राठौर एवं सरदार पटेल यूनिवर्सिटी के वीसी शिरीष कुलकर्णी सहित अन्य लोग शामिल हैं।

गौरतलब है कि इसे ‘शैक्षणिक संस्थानों में वामपंथी अराजकता के खिलाफ बयान’ शीर्षक के नाम से प्रधानमंत्री को भेजा गया है। समझना आसान है कि 208 शिक्षाविदों के इस बयान को अकादमिक जगत में समर्थन जुटाने का शासन द्वारा किया गया प्रयास माना जा रहा है।