फ्लोर टेस्ट ना कराए जाने को लेकर मध्य प्रदेश बीजेपी पहुंची सुप्रीम कोर्ट

मध्यप्रदेश में जारी सियासी संग्राम देखते हुए 16 मार्च को होने वाले फ्लोर टेस्ट को निरस्त कर बजट सत्र की कार्यवाही तो 26 मार्च के बाद शुरू करने की बात कही गई है। वहीं इस फैसले का मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी इसका कड़ा विरोध कर रही है और इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट गई है।

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा मंगलवार को सुनवाई की जाएगी। बता दें कि बीजेपी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने 106 विधायकों को राज्यपाल के सामने परेड कराई। इसके बाद राज्यपाल लालजी टंडन ने कहा है कि जो भी कार्यवाही होगी वह संविधान के नियमों के अनुसार होगी और किसी भी विधायक के अधिकार का हनन नहीं किया जाएगा।

वही कहा जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी भी सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर सकती है 16 विधायकों के गायब होने को लेकर ।