जल्लादों की कमी के कारण नहीं हो रही ‘निर्भया के बलात्कारियों को फांसी’

अजीब विडंबना है कि जिस केस ने समूचे देश को हिला दिया, उस केस में दोषी करार दिए गए दोषियों को फांसी देने के लिए कोई जल्लाद ही उपलब्ध नहीं है। मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार तिहाड़ जेल प्रशासन के पास हाल-फ़िलहाल कोई जल्लाद मौजूद नहीं है।

बताया जा रहा है कि जल्द ही फांसी देने के लिए ब्लैक वारंट जारी हो सकता है। वर्तमान में राष्ट्रपति महोदय के पास निर्भया के बलात्कारियों की याचिका लंबित है और उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही उसे अस्वीकार कर दिया जाएगा और दोषियों को फांसी पर लटका दिया जायेगा।

बताते चलें कि जल्लादों की कमी का मुद्दा हमेशा से उठता रहा है, क्योंकि रेयरेस्ट ऑफ़ दी रेयर मामलों में फांसी की सजा दी जाती है और इसलिए फुल टाइम जल्लाद रखने की आवश्यकता नहीं होती है। इससे भी बड़ी बात यह है कि अब कोई जल्लाद बनने को तैयार नहीं होता।