शिवसेना ने किया ‘नागरिकता संशोधन बिल’ का विरोध

बीजेपी से अलग होने के बाद महाराष्ट्र में सरकार बनाने वाली शिवसेना ने आज लोकसभा में पेश होने वाले नागरिक संशोधन विधेयक का खुलकर विरोध किया है। महाराष्ट्र के सीएम और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का कहना है कि यह विधेयक धर्म के आधार पर लोगों में बटवारा करने वाला है। ज्ञात हो कि केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस विधेयक को मंजूरी मिलने के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह इस विधेयक को आज लोकसभा में पास कराने की कोशिश करेंगे।

इतना ही नहीं देश की तमाम विपक्षी पार्टियां इस विधेयक को लेकर अपना विरोध प्रदर्शित कर रही हैं तो भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में भी इस विधेयक के लिए विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा है कि इस विधेयक में भारत के हितों का ध्यान रखा जाएगा।

बता दें कि पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आने वाले हिंदू, ईसाई, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध धर्म के लोगों को इस विधायक द्वारा नागरिकता प्रदान करने की सुविधा दी जाएगी।