राज्यसभा में पास हुआ ‘एसपीजी’ संशोधन बिल

लोकसभा में पास होने के बाद ‘एसपीजी संशोधन बिल’ आज राज्यसभा में भी पास हो गया। ज्ञात हो कि इस बिल को लेकर कांग्रेस के नेता विरोध कर रहे थे कि यह बिल राजनीतिक प्रतिशोध के लिए लगाए जा रहा है। इतना ही नहीं कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि इस बिल में संशोधन कर गांधी परिवार की सुरक्षा से खिलवाड़ किया जा रहा है।

हालांकि राज्यसभा में इस बिल पर चर्चा के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने स्पष्ट कर दिया कि इस बिल में सिर्फ परिवर्तन किया गया है ना कि गांधी परिवार के तीनों सदस्यों से सुरक्षा वापस ली गई है। अमित शाह का तो यहां तक कहना है कि गांधी परिवार के तीनों सदस्यों को ‘जेड प्लस सिक्योरिटी’ दी गई है वह भी एंबुलेंस और एएसएल के साथ। उनकी सुरक्षा में जो जवान लगे हैं वो एसपीजी में कार्य कर चुके हैं।

चर्चा पर विस्तार करते हुए अमित शाह ने कहा कि एसपीजी सुरक्षा सिर्फ और सिर्फ प्रधानमंत्री के लिए बनी है बाकी किसी के लिए नहीं। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि प्रधानमंत्री पद से हटने के बाद प्रधानमंत्री मोदी को भी सिर्फ 5 साल ही एसपीजी सुरक्षा मिलेगी उसके बाद उनसे भी सुरक्षा वापस ले ली जाएगी। अमित शाह की सफाई के बाद राज्यसभा में मौजूद सभी कांग्रेसी वाकआउट कर गए।