ज़िन्दगी से जंग हार गयी उन्नाव रेप पीड़िता

लगभग 90 प्रतिशत तक जली अवस्था में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रेफर की गयी उन्नाव रेप पीड़िता ने लम्बे संघर्ष के बाद दम तोड़ दिया। हॉस्पिटल के बर्न एवं प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ। शलभ कुमार ने बताया कि हमें पहले से ही आशंका थी कि पीड़िता के शरीर में संक्रमण न फैले क्योंकि उसके बाद किसी भी बर्न पेसेंट को बचाना मुश्किल हो जाता है। उन्नाव रेप पीड़िता के साथ भी यही हुआ और तेजी से उसका शरीर संक्रमित होने लगा।

वहीं शुक्रवार रात 11 : 40 पर पीड़िता ने दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि पीड़िता का शरीर पोस्टमार्टम के बाद लखनऊ के रास्ते उन्नाव लाया जायेगा। वहीं अपनी बेटी की मौत के बाद लड़की के पिता ने मांग की है कि हैदराबाद की तरह ही उसकी बेटी के कातिलों को गोली मारी जाये या सरेयाम फांसी दी जाये। बता दें कि मरने से पहले लड़की के अंतिम शब्द थे मेरे कातिलों को छोड़ना नहीं।

ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश के उन्नाव कि रहने वाली इस लड़की के साथ दिसंबर 2018 में रेप हुआ था जिसकी FIR लड़की ने मार्च 2019 में लिखाई। तब से लेकर अब तक लड़की के ऊपर 3 बार जानलेवा हमले हो चुके हैं। वहीं इस बार पांच लोगों ने उसे पेट्रोल डाल कर जलने की कोशिश जिसमे पांच आरोपों को गिरफ्तार किया गया है।